Friday, 18 August 2017

stock market trader shouldn't wait for minutes but investor should be stable for years

trader should not wait even for 5 minutes and investor should not be worried even after 5 years.
One should enter into trade with taking support of some advice but book profit as per your own capacity.
Don't wait longer for defined target,keep booking part on every move in price and keep trailing Stop loss in remaining part.
but do not trail SL after 2 consecutive move. Book all there and wait for next time slot or keep SL buy@high to re enter.
If you want to trade in big volume,suppose bought 10000shares of a company@24. If it slips0.30p ,you will see -3000 loss.Don't be emotional here and control the loss by selling 8000 shares.If it goes further down to23 and recovers from there, you can re enter with only5000 shares@23.2.Your average cost will be23.50 only.You can book 2000-2000shares@23.40/23.70/23.90 and 1000 may be sold@25-26.
if it goes 24.40 first then book2000-2000shares@24.30-24.60.
then it comes down with falling nifty to23.80.
One can re enter @24.10-23.9with 1000-1000 shares.
these are examples of trader's flexibility and control in your hand.
sometime a stock may go upto27-28 in
single day with15-20 percent change.
But you can't wait for such a movement all the time. these moves are rare in any scrip like once in a month or quarter.
So book part at jump and re enter @high is suitable for both smaller and huge moves.
www.speedearning.in
7066045880
8381021346

Friday, 11 August 2017

which is better to invest - mutual fund or direct in equity / stock

which is better to invest - mutual fund or direct in equity / stock
Start with 70percent in mutual fund and 30percent in equity.
sensex goes down for technicalx correction in every 3 to 6months.
One should focus on study and comparision of right stocks from right sector.
Mutual fund falls moderately in comparision to equity so we suggest you to fall with mf and rise with equity.
means if nav of 10/- goes down to 9 when market falls but equity will go 10 to 6 in same fall.
So sell mf at that moment and enter into equity part by part.Switching will be mild if you are not doing it in single shot.
because no one can find exact bottom.It may continue to fall even after your entry.
One can buy put or sell call to hedge equity portfolio in falling market. keep booking part profit on each jump of market.
there will be 60/40 then 50/50 and finally 40/60 ratio.
when MF goes from 9 to 10 then equity will go from 6 to 10 in the same time.
So fall with MF and rise with equity.
small and midcap may be bought in bottom but balance these with largecap stocks.

www.speedearning.in
7066045880
8381021346
100 percent practical on the job training stock market/mcx trading analysis course 45000(6m full fee recovery
tips+phone-video class
2000(set of 4hindi+3eng books
8381021346
7066045880
www.speedearning.in
see ac number in website
pay neft and send details to start same day
9990(1month pack

Monday, 7 August 2017

How to earn at home in extra hour?

https://youtu.be/NK_bi77040M
How to earn at home in extra hour?

One can earn at home with stock market commodity or currency trading online.
You are not earning money only but having leverage too.
This is the real difference with other online business. You are becoming more efficient with day by day experience of trading.
So you need to work less with growing age.
That should be the main feature of any powerful career.
www.speedearning.in
8381021346
7066045880
You may have 10 minutes to 2 hour spare time but online trading is quite flexible in terms of time and money.
Switching to some different task in evening is real relaxation.

Tuesday, 1 August 2017

शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट के तरीके -

शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट के तरीके - हर व्यक्ति की क्षमता और सुविधा के अनुसार यहां इन्वेस्ट किया जा सकता है !
1 आईपीओ - (इनिशियल पब्लिक ऑफर) नए इशू में पैसा लगाना !
2 म्यूचुअल फंड - कंपनी की स्कीम के लिए शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट !
3 लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट - 1 साल से ज्यादा के लिए शेयर खरीदना !
4 शॉर्ट टर्म इन्वेस्टमेंट - 1 साल तक के लिए शेयर खरीदना
5 इंट्रा डे ट्रेडिंग- उसी दिन खरीदना बेच देना
6 फ्यूचर या ऑप्शन - एक अनुमानित प्राइस पर लॉट डीलिंग !

Friday, 28 July 2017

1lac in a day idea stock option story) stock market F&O free tips

https://youtu.be/nsXl5j41QE0
1lac in a day idea stock option story) stock market F&O free tips

Please watch this video once and you will find a way to become millionaire.
It will not be a short cut.You will have to prepare yourself with complete knowledge
And there are easy, affordable and simple ways to learn fortunately.
You will learn from ABC about stock option trading, future trading and everything about stock market trading and investment.

www.speedrarning.com
See full YouTube channel of Pankaj Jain
Best in Asia for stock market
7066045880
8381021346

Thursday, 20 July 2017

शेयर मार्केट है क्या?

शेयर मतलब हिस्सा ! कोई भी बड़ा उद्योग या व्यापार किसी एक व्यक्ति की पूंजी से नहीं चल सकता ! इसीलिए कंपनी लोगों से पैसा इकट्ठा करके पूंजी जुटाती है, बिजनेस में लगाती है! बिजनेस में होने वाला फायदा लोगों में बटता है ! शेयर बाजार के जरिए एक आम आदमी की बड़ी-बड़ी कंपनियों के साथ हिस्सेदारी हो जाती है! इस हिस्सेदारी का फायदा दो तरीकों से मिलता है - ( 1) डिविडेंड (लाभांश) - कंपनी के प्रॉफिट में से इनवेस्टर को समय पर डिविडेंड मिलता है ! ( 2) शहर की ऊंची प्राइस - भूकंप,कंपनी का बिजनेस अच्छा है, 2 लोगों के उसके शेयर की मांग बढ़ती जाएगी और शहर का प्राइस बढ़ता जाएगा ! भारतीय शेयर मार्केट पर्फॉर्मेंस के बजाए परसेप्शन पर ज्यादा निर्भर है, क्योंकि 80% इंवेस्टर्स बगैर पूरी जानकारी के काम करते हैं तू जहां कंपनी का परफॉर्मेंस दुगना है तो शेयर प्राइस 10 गुना भी हो जाती है ! शेयर मार्केट देश की अर्थव्यवस्था का आधार होते हैं ! इसके बगैर देश के सारे उद्योग अधर में लटक जाएंगे, फिर शेयर मार्केट को लेकर लोग नेगेटिव क्यों है? क्योंकि हम भारतीय की मानसिकता डर पर आधारित है ! बचपन से उसे ऐसे हर काम में रोका जाता है, जहां जोखिम हो ! सर्विस क्लास मेंटलिटी का जोर होने से सुरक्षा का रवैया मुख्य होता है! चाहे पैसा बड़े ना बड़े, कभी कम नजर ना आए ! ऐसे में बैंक एफडी या पोस्ट ऑफिस आदि विकल्प चुने जाते हैं, जहां निश्चित मिनिमम रिटर्न की गारंटी है ! उतार चढ़ाव शेयर मार्केट का अभिन्न अंग है ! उतार देखकर नए लोग घबराकर नुकसान उठा लेते हैं और जीवन भर के लिए शेयर बाजार से तौबा करते हैं ! कुछ पुराने हादसे भी इसके लिए जिम्मेदार है ! 1992 मैं हुए हर्षद मेहता घोटाले ने इंडियन शेयर मार्केट को 10 साल पीछे धकेल दिया ! लेकिन इस हादसे से उभरकर शेयर मार्केट कब संभल गया , आम आदमी को पता ही नहीं ! किसी भी चीज के बारे में राय बनाने से पहले उसके बारे में पूरी तरह जानी है तो ! जब से लोगों का खाली पड़ा पैसा शेयर बाजार में आकर उद्योगो में लग गया हे, तब से हिंदुस्तान की इकानामी तेजी से आगे बढ़ने लगी है ! जिस शेयर बाजार की हलचल पर वित्त मंत्री को चिंता होती है ! सभी न्यूज़ चैनल और न्यूज़पेपर की जो मुख्य खबरों में छाया रहता है ऐसे शेयर बाजार को सिर्फ उतार चढ़ाव की स्वाभाविक प्रकृति के कारण कोरा सट्टा बाजार समझना नासमझी ही तो है ? जैसे आग, पानी और बिजली का गलत इस्तेमाल जानलेवा होता है, वैसा ही शेयर बाजार है ! इनके बगैर काम चल ही नहीं सकता, इसीलिए सीखो और इस्तेमाल करो !